Gazal Hindi

जैसा कहेंगे वैसा ही करेंगे 

जैसा कहेंगे वैसा ही करेंगे
धूप के बाज़ारो से पानी भरेंगे

मोबाईल मे क़ैद है छुट्टियां सारी
अब न बच्चे, नाना नानी करेंगे

मैंने छूने मे वक़्त इस लीये लिया
शायद आप आना कानि करेंगे

पहेली सिम्त मे इस लीये खड़े थे
भरोसा था आप न हानी करेंगे

वक़्त हो चला है रुस्वा होने का
जगह देने की महेरबानी करेंगे

सज़दे मे जुके है तो अब आप
जो चाहे वो बस मनमानी करेंगे

~ हिमांशु मेकवान

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.